Chura Liya lyrics, Chura Liya lyrics in hindi, Chura Liya lyrics of sachet-parampara, चुरा लिया लिरिक्स इन हिंदी ,

Chura Liya lyrics – Sachet-Parampara

Chura Liya lyrics (चुरा लिया लिरिक्स इन हिंदी ) song sung by Sachet-Parampara and Chura Liya lyrics are written by Irshad Kamil and
Chura Liya song music is composed by Sachet-parampara…

Chura Liya lyrics Details-

Song : Chura Liya
Singer : Sachet-Parampara
Lyrics : Irshad Kamil
Music : Sachet-Parampara
Song Release Date : 12/10/2021
Music Lable : T-Series

lyricstohindi
चुरा लिया लिरिक्स इन हिंदी

कुछ कहानियां समंदर की तरह होती हैं
ज़रूरी अधूरी भी
एक किनारे से पूरा समंदर नहीं दिखता ना
ये कहानी पता नहीं समंदर है या ज़रूरी है

मेरे पास एक दिल था
वो भी तुमने चुरा लिया
ओ मेरे पास एक दिल था
वो भी तुमने चुरा लिया

ये मर्ज़ियों का मालिक
कैसे मना लिया
ओ मेरे पास एक दिल था
वो भी तुमने चुरा लिया

इलज़ाम ना तू लगा
मैं चोर नहीं दिल की
मेरा है ख्याल तूने
खबर जा और कही दिल की

इलज़ाम ना तू लगा
मैं चोर नहीं दिल की
मेरा है ख्याल तूने
खबर जा और कही दिल की

अब देख ना तू ऐसे
करके नज़रें सवालिया
कोई और होगा जिसने
तेरा दिल है चुरा लिया

ये मर्ज़ियों का मालिक
कैसे मना लिया
ओ मेरे पास एक दिल था
वो भी तुमने चुरा लिया

मेरे पास एक दिल था
वो तुमने चुरा लिया, वो….

मैं अजनबी तू अजनबी
चलते हैं वहां
मिलते हैं जहाँ
दिल दुनियां से लापता

चल नयी दुनियां में जाए
डर लगे तो मुस्कुराए
ख्वाब देखे और गाए बेवज़ह

मैंने आज ख्वाब तेरा
पल में अपना बना लिया
मेरे पास एक दिल था
वो भी तुमने चुरा लिया

ये मर्ज़ियों का मालिक
कैसे मना लिया
ओ मेरे पास एक दिल था
वो भी तुमने चुरा लिया

धीरे धीरे तू मेरे
अरमान दिल का हुआ
इश्क़ तेरा क्यों मेरे
ईमान दिल का हुआ

तू मिला तो इस दफ़ा
सौदा नज़र से हुआ
आँखों के एक सुर में
नुक्सान दिल का हुआ

ना दिल भर के बातें की थी
ना फिर मिलने का वादा था
ये किस्सा तो आधा था

Chura Liya lyrics

Kuch Kahaniyan Samandar Ki Tarah Hoti Hain
Zaroori Bhi Adhoori Bhi
Ek Kinaare Se Poora Samandar Nahi Dikhta Na
Yeh Kahani Pata Nahi Samandar Hai Ya Zaroori Hai

Mere Paas Ek Dil Tha
Woh Bhi Tumne Chura Liya
O Mere Paas Ek Dil Tha
Woh Bhi Tumne Chura Liya

Yeh Marziyon Ka Maalik
Kaise Mana Liya
O Mere Paas Ek Dil Tha
Woh Bhi Tumne Chura Liya

Ilzaam Na Tu Laga
Main Chor Nahi Dil Ki
Mera Hai Khayal Tune
Khabar Ja Aur Kahi Dil Ki

Ilzaam Na Tu Laga
Main Chor Nahi Dil Ki
Mera Hai Khayal Tune
Khabar Ja Aur Kahi Dil Ki

Ab Dekh Na Tu Aise
Karke Nazrein Sawaliya
Koi Aur Hoga Jisne
Tera Dil Hai Chura Liya

Yeh Marziyon Ka Maalik
Kaise Mana Liya
O Mere Paas Ek Dil Tha
Woh Bhi Tumne Chura Liya

Mere Paas Ek Dil Tha
Woh Tumne Chura Liya, Wo….

Main Ajnabi Tu Ajnabi
Chalte Hain Wahan
Milte Hain Jahan
Dil Duniyan Se Laapta

Chal Nayi Duniyan Mein Jaaye
Darr Lage To Muskuraye
Khwaab Dekhe Aur Gaaye Bewajah

Maine Aaj Khwaab Tera
Pal Mein Apna Bana Liya
Mere Paas Ek Dil Tha
Woh Bhi Tumne Chura Liya

Yeh Marziyon Ka Maalik
Kaise Mana Liya
O Mere Paas Ek Dil Tha
Woh Bhi Tumne Chura Liya

Dheere Dheere Tu Mere
Armaan Dil Ka Hua
Ishq Tera Kyon Mere
Imaan Dil Ka Hua

Tu Mila To Is Dafa
Sauda Nazar Se Hua
Aankhon Ke Ek Sur Mein
Nuksaan Dil Ka Hua

Na Dil Bhar Ke Baatein Ki Thi
Na Phir Milne Ka Waada Tha
Yeh Kissa To Aadha Tha

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *